• India
  • Last Update 11.30 am
  • 26℃ India
news-details

पेंशन सत्याग्रह न्याय यात्रा ने खड़ा किया एक पुरानी पेंशन बहाली का एक बड़ा आंदोलन

पेंशन सत्याग्रह न्याय यात्रा ने खड़ा किया एक पुरानी पेंशन बहाली का एक बड़ा आंदोलन

धार सैयद रिजवान अली

25 सितंबर को जिला और 9 अक्टूबर को भोपाल में जंगी प्रदर्शन

:- कर्मचारियों के बल पर लगातार सरकार बनाने में सफल रहने वाली शिवराज सरकार के लिए आने वाला समय कठिनाइयों से भरा रहने वाला है।म प्र का हर विभाग का कर्मचारी इस समय पुरानी पेंशन की मांग पर आंदोलित है।शिवराज जी जिस अध्यापक संवर्ग को अपना वोट बैंक मानते रहे इस समय वही उनके विरोध में प्रदेश भर में न्याय यात्रा निकाल एक बड़ा आंदोलन खड़ा करने जा रहा है।राज्य शिक्षक संघ के प्रांताध्यक्ष जगदीश यादव द्वारा निकाली जा रही पेंशन सत्याग्रह न्याय यात्रा की जिलों में इकट्ठी हो रही भीड़ ने आंदोलन के भयंकर होने के संकेत दे दिए है।राज्य शिक्षक संघ ने आगामी 25 सितंबर को प्रत्येक जिला स्तर पर और 9 अक्टूबर को भोपाल में प्रदर्शन की घोषणा की है।

चार साल से अटके मामले:-राज्य शिक्षक संघ म प्र के प्रांताध्यक्ष जगदीश यादव ने बताया कि हमारी मुख्य मांग पुरानी पेंशन की बहाली हैं।परंतु विगत चार साल से शिक्षकों की वरिष्ठता के मामले को सरकार ने उलझा रखा है।राज्य शिक्षा सेवा के गठन 2018 से अब तक वरिष्ठता को ही परिभाषित नही कर पाई है सरकार,जिसके कारण शिक्षकों में आक्रोश और अनिश्चितता की स्थिति है।वही क्रमोन्नति-पदोन्नति, अनुकंपा और नवनियुक्त शिक्षकों की परिवीक्षा और पूर्ण वेतन पर भी सरकार मौन है।

अन्य राज्यो ने दी पेंशन:-देश के गैर भाजपा शासित राज्यों छत्तीसगढ़, राजस्थान और झारखंड ने अपने कर्मचारियों को पुरानी पेंशन बहाल कर दी है।इससे प्रदेश के आंदोलित शिक्षक भी मानते है कि प्रदेश सरकार ऐसा क्यो नही कर सकती।वहीं कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने भी अनेकों स्थानों पर सत्ता में आने पर पुरानी पेंशन बहाली की घोषणा कर दे. संघ के जिला अध्यक्ष देवेन्द्र सोलंकी और जिला सयोजक योगेंद्र पाण्डेय ने बताया की दिनांक 25को जिले मे रैली निकालकर ज्ञापन दिया जाएगा. उक्त जानकारी मिडिया प्रभारी योगेश चौहान ने दी।

  • Tags

उर्स सलामी बुरहानी मेहमूदी में जुटेंगे देशभर के हजारों ज़ायरीन

मध्यप्रदेश में नही थम रही पत्रकारों पर हमले की घटना।धार में पत्रकार सहित उसके परिवार पर किया सट्टा कारोबारियों ने हमला भोपाल।