• India
  • Last Update 11.30 am
  • 26℃ India
news-details

तहसीलदार महाराजपुर की कार्यप्रणाली में जुड़ा नया अध्याय

खाद बीज की दुकान में लगाया ताला वरिष्ठ अधिकारी को बताना भूल गए साहब पर हम बता रहे हैं किसी की उपलब्धि छुपाना हमारी कार्यप्रणाली में नहीं है।

 

तहसीलदार महाराजपुर की कार्यप्रणाली में जुड़ा नया अध्याय

@​​खेमराज चौरसिया छतरपुर 

छतरपुर। महाराजपुर तहसीलदार सुनील वर्मा की कारगुजारियां दिन प्रतिदिन सामने आ रही हैं ओर जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी मौन धारण किए हुए हैं। तहसीलदार श्री वर्मा द्वारा कल ही अवैधानिक रूप से अतिक्रमण के नाम पर चलाए गए बुलडोजर की घटना अभी शांत भी नही हुई थी कि महाराजपुर तहसील अंतर्गत ग्राम टटाम में आर के ट्रेडर्स नामक प्रतिष्ठान पर बुधवार को तहसीलदार श्री वर्मा ने छापा मारा। श्री वर्मा ने खाद बीज की दुकान जिसका नाम किसान सेवा केंद्र है पर भी तालाबंदी की। इस संबंध में जनसंपर्क विभाग द्वारा समाचार जारी किए गए परंतु उन को प्रकाशित नही करवाया गया या यह कहें कि खबर को बड़ी चालाकी के साथ छुपाया गया है।

गौर तलब हो कि छतरपुर के ग्राम बरोही ने प्रत्यक्षदर्शी ने बताया की तहसीलदार महोदय ने एक खाद बीज की दुकान में भी तालाबंदी की जिसकी खबर को छुपाने के पीछे व्याप्त भ्रष्टाचार से इंकार नहीं किया जा सकता है। 

 तहसीलदार महाराजपुर द्वारा ग्राम टटाम में आर के ट्रेडर्स पर की गई कार्यवाही में यूरिया मिलने पर जिस व्यक्ति महेंद्र यादव को दुकानदार बताया गया है वह वास्तविकता में कर्मचारी है तथा दुकान मालिक राकेश कुमार सोनी है ।

श्री सोनी के अनुसार तहसीलदार द्वारा की गई छापामारी में जप्त किया खाद उनके द्वारा अपने खेत के लिए रखा गया था, जिसको उनकी गैर मौजूदगी में कर्मचारी महेंद्र यादव को दुकानदार बताकर तहसीलदार महोदय ने पंचनामा बनाया है। यहां गौर करने वाली बात यह है कि तहसीलदार द्वारा जप्ती पंचनामा की प्रति तक उपलब्ध नहीं कराई गई है।

 

यहां यह बताना भी आवश्यक होगा कि इस छापेमारी में तहसीलदार महोदय के साथ कुछ कथित यू ट्यूबर तथा राजस्व अमले का कोटवार उनके साथ मौजूद था। उक्त कोटवार एक साथ दो दो ड्यूटी निभा रहा है। राजस्व विभाग से कोटवार का वेतन प्राप्त करने वाला यह व्यक्ति बतौर वाहन चालक तहसीलदार साहब के साथ साथ साए की तरह चलता है।

 

खास बात यह है कि तहसीलदार साहब बहादुर की कारगुजारियां नित नई नई इबारते लिख रही हैं। गलत तरीके से खाद बीज की दुकान पर छापेमारी ,अवैधानिक रूप से अतिक्रमण तोड़ना, मृत व्यक्ति के नाम कार्यवाही जैसे दर्जनों मामले उनकी कार्यप्रणाली को उजागर करते हैं। ऐसे में जनसंपर्क विभाग द्वारा उनकी महिमा मंडन करना न्यायसंगत प्रतीत नही होता है।

  • Tags

गणतंत्र दिवस पर संविधान बचाने तिरंगा यात्रा लेकर निकले आरिफ मसूद

सेवा को सम्मान: विचारक, द्विभाषी लेखिका, पत्रकार श्रीमती शशि दीप को मिला "इंडिया स्टार रिपब्लिक अवार्ड 2023"