• India
  • Last Update 11.30 am
  • 26℃
    Warning: Undefined variable $city in /var/www/khabrenaajtak.com/news.php on line 114
    India
news-details
महाराष्ट्र

पर्यावरण दिवस पर विचार तथा काव्य गोष्ठी का हुआ आयोजन

पर्यावरण दिवस पर विचार तथा काव्य गोष्ठी का हुआ आयोजन

 

पर्यावरण संरक्षण हमारी रोज़मर्रा की आदतों में शामिल होना चाहिए- शशि दीप

 

मुम्बई. प्रेस क्लब ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट्स के अभिन्न अंग विश्व साहित्य सद्भाव परिषद व वी सी सी हाउसिंग सोसाइटी के तत्वावधान में गत बुधवार 5 जून 2024 विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर एक विचार तथा काव्य गोष्ठी का आयोजन रखा गया। परिषद की राष्ट्रीय अध्यक्ष व इस कार्यक्रम की सूत्रधार श्रीमती शशि दीप मुम्बई के अनुसार यह विचार तथा काव्य गोष्ठी क्लब हाऊस वी सी सी ठाकुर विलेज कांदिवली ईस्ट मुम्बई में शाम 05 बजे से रखा गया था, जिसमें मुम्बई की साहित्यकार, लेखिकाओं व जागरूक गृहणियों व कामकाजी महिलाओं ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। इस कार्यक्रम में नागपुर की जानी-मानी साहित्यकार श्रीमती निर्मला पांडे जी बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित थीं जिनका कार्यक्रम के प्रारम्भ में अंजली पाटिल, अंजली निगम व आरती चव्हाण द्वारा पुष्प गुच्छ देकर अभिनन्दन किया गया व शशि दीप ने एलोवेरा का पौधा देकर विशेष सम्मान किया। कार्यक्रम में सभी सहभागियों ने पर्यावरण के संबंध में अपने विचार रखे, रोजमर्रा की जिंदगी में उपयोग आने वाले कई नए-नए इको फ्रेंडली प्रेक्टिसेस के बारे में अवगत कराया। कुछ सदस्यों ने शानदार प्रेरणादायक कविताएं पढ़कर उपस्थित ऑडियंस को मंत्रमुग्ध कर दिया। जिसमें प्रमुख रूप से मेधा मोदी, मंजू उपाध्याय, आशा शर्मा और अंजलि पाटिल की कविताएं सराहनीय रही। पर्यावरण सम्बन्धित विचारों में प्रतिभा सिंघल ने ज्यादा से ज्यादा ग्रीनरी लगाने पर बल दिया, अंजली निगम ने "ऑप्टीमम यूज ऑफ रिसोर्सेज" व रिड्यूस, रिसायकल व रीयूज को अपनाने की बात कही, दिशा व्यास ने ई- वेस्ट मैनेजमेंट की आदत डालने पर जोर दिया वहीं मंजूषा भाले ने वृक्षों को किसी भी सूरत पर कटवाने पर रोक लगाने को कहा, वहीं श्वेता पांडे ने बच्चों को गैजेट्स से दूर रखकर फिजिकल एक्टिविटीस में बिजी रखने पर जोर दिया। बहुतों ने माना कि प्लास्टिक सेग्रीवगेशन तथा गीला व सूखा गारबेजेस को अलग अलग इकठ्ठा करना पर्यावरण के लिए कितना अहम है। अंत में मुख्य अतिथि निर्मला पांडे जी ने पर्यावरण प्रेम पर आधारित अपनी एक कविता का पाठ किया जिससे उपस्थित ऑडियंस अपने-अपने गावों की सैर और नीम के पेड़ की छांव की याद में खो गए। अंत में इंदु श्रीवास्तव जी ने धन्यवाद ज्ञापन किया। कार्यक्रम में वरिष्ठ सदस्यों में इंदु श्रीवास्तव, रसीला कावा, ऊषा अधालखा, संतोष सिंघल, शशि कला जी, सुधा श्रीवास्तव, श्रीमती मोदी जी व अन्य नाम श्रीमती आशा शर्मा, मंजू उपाध्याय, मंजूषा भाले, अंजली निगम, अंजली पाटिल, श्वेता पांडे, मेधा मोदी, प्रतिभा सिंघल, शुभा कक्कर, दिशा व्यास, आरती चव्हाण, मिनी शर्मा इत्यादि उपस्थित रहे। उपस्थित साथियों ने पर्यावरण के प्रति जागरूकता पर आधारित इस विशेष गोष्ठी के संयोजन, संचालन व कुशल निष्पादन के लिए शशि दीप की भूरि-भूरि प्रशंसा की। कार्यक्रम की कवरेज अंजली पाटिल, आरती व युवा वॉलंटियर मिनी शर्मा ने किया।

कॉपी पेस्ट से ज़्यादा कुछ अधिक नहीं तीन नये कानून

जयेश खाड़े महाराष्ट्र इकाई के संयोजक एवं सुरिंदर सिंह दिल्ली इकाई डिजिटल मीडिया विभाग के संयोजक मनोनीत